Uncategorized

राजश्री मेडिकल काॅलेज में एम.बी.बी.एस. के नवें बैच की व्हाइट कोट सेरेमनी का आयोजन।

सोमवार, दिनांक 02 जनवरी 2023 को राजश्री मेडिकल रिसर्च इंस्ट्टीयूट में एम.बी.बी.एस. 2022 बैच के नव प्रवेशी छात्र/छात्राओं के प्रथम वर्ष में प्रवेश के अवसर पर संस्थान के नवें व्हाइट कोट समारोह का आयोजन माँ सरस्वती जी के समक्ष संस्थान के चेयरमैन श्री राजेन्द्र अग्रवाल जी एवं मुख्य अतिथि ब्रिगेडियर जसविन्दर सिंह कमान्डेंट एम.एच. बरेली ने दीप प्रज्वलित करके किया।
संस्थान के चेयरमैन श्री राजेन्द्र अग्रवाल ने विद्यार्थियों को आशीर्वाद देते हुए संस्थान की स्थापना से लेकर आज तक का इतिहास संक्षिप्त रूप में बताया, उन्होनें इस अवसर पर विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया कि वाइट कोट डॉक्टर्स की पहचान होती है, उन्होंने कहा कि डॉक्टर बनना सिर्फ हमारा सपना नहीं होता बल्कि हमारे माता-पिता के सपने और उम्मीदें भी इसके साथ जुड़ी होती हैं इसलिए इन उम्मीदों को ध्यान में रखते हुए अपने लक्ष्य की ओर अग्रसहित होने के लिये उन्हें शुभकामनाऐं दीं एवं हर विद्यार्थी को 5 परिवार गोद लेने व उनका उपचार कर समाज में अपनी पहचान बनाने के लिए अग्रसित किया।
ब्रिगेडियर जसविन्दर सिंह कमान्डेंट एम.एच. बरेली ने कहा कि डाॅक्टर को इस धरती पर भगवान का दर्जा दिया गया है क्योंकि डाॅक्टर अनेक गंभीर बीमारियों से निवारण कर हमें नया जीवन प्रदान करते हैं इसलिए पूर्णतः लगन से पढ़ाई करें जिससे इस समाज को एक कुशल डाॅक्टर का नेतृत्व प्राप्त हो। हमारे समय में अपनी पढ़ाई से सम्बन्धित जानकारियाँ प्राप्त करने के कम साधन थे आज परिस्थित अलग है। आप बहुत भाग्यशाली हैं जो आपके माता-पिता ने आपको इस कैरियर के लिए चुना व आपका साथ दिया। आप अपने कर्तव्य के प्रति सदैव निष्ठावन रहें।
इस अवसर पर बोलते हुए संस्थान की ऐकेडमिक एडवाइजर मिस तूलिका अग्रवाल ने संबोधित करते हुए कहा कि चिकित्सक बनना लाखों लोगों का सपना होता है, लेकिन कुछ ही बन पाते हैं, इसके लिए आपके अभिभावकों ने कितने प्रयास किए होंगे, जिसके बाद आप आज यहां तक पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि व्हाइट कोट पहनने के साथ ही आप पर एक जिम्मेदारी भी शुरू हो जाती है। आपको अपने आप में सबसे बेस्ट बनना है, इसके लिए आज से ही प्रयास शुरू करें एवं जीवन में आगे बढें।
संस्थान के डीन डाॅ॰ वी॰के॰ अग्रवाल ने बताया कि महर्षि चरक एक बड़े आयुर्वेद विशारद थे, जिन्होंने आयुर्वेद के माध्यम से चिकित्सा जगत में क्रांति ला दी थी, इन्होंने ही चरक-संहिता का निर्माण किया था। चरक-शपथ कहती है ‘‘ना अपने लिए और ना ही दुनिया में मौजूद किसी वस्तु या फायदे को पाने के लिए, बल्कि सिर्फ इंसानियत की पीड़ा को खत्म करने के लिए मैं अपने मरीजों का इलाज करूंगा’’। बैच 2022 सत्र में आए नए छात्रों को डीन की ओर से वाइट कोट पहनाया गया। वाइट कोट पहनाने के बाद एमबीबीएस के विद्यार्थियों को ‘चरक शपथ’ दिलाई गई।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि ब्रिगेडियर जसविन्दर सिंह कमान्डेंट एम.एच. बरेली को स्मृति चिन्ह् संस्थान के चेयरमैन श्री राजेन्द्र अग्रवाल द्वारा प्रदान किया गया।
चीफ वार्डन डाॅ॰ एच॰के॰ सिंह ने विद्यार्थियों को हाॅस्टल के नियम एवं एण्टीरैगिंग के बारे में बताया और सदैव अनुशासन में रहने के लिए कहा।
समारोह में संस्थान के चेयरमैन श्री राजेन्द्र अग्रवाल, सेक्रेटरी श्री राकेश अग्रवाल, वाइस चेयरपर्सन डाॅ॰ मोनिका अग्रवाल, मैनेजिंग डायरेक्टर श्री रोहन बंसल, सी0ओ0ओ0 श्री ऋषभ बंसल, एकेडमिक एडवाइजर मिस तूलिका अग्रवाल, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री वी॰डी॰ अरोरा एवं संस्थान के डीन डाॅ0 वी0के0 अग्रवाल सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, प्रोफेसर एवं अध्यापकगण उपस्थित रहे।
समारोह का संचालन डाॅ0 प्रियंका एवं डाॅ॰ अमिता परदेशी ने किया। समारोह का समापन प्रोफेसर अजय आनन्द ने उपस्थित मैनेजमेंट के समस्त पदाधिकारी, विभागाध्यक्ष, प्रोफेसर एवं डाॅक्टर्स का धन्यवाद कर किया।

Back to list

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *